कितने चेहरे हैं इस दुनिया में,
मगर हमको एक चेहरा ही नज़र आता है,
दुनिया को हम क्या देखे,
उसकी यादों में सारा वक़्त गुज़र जाता है |

नज़र को नज़र की खबर ना लगे,
कोई अच्छा भी इस कदर ना लगे,
आपको देखा है बस उस नज़र से,
जिस नज़र से आपको नज़र ना लगे…!

वो दिन दिन नही..वो रात रात नही..
वो पल पल नही जिस पल आपकी बात नही..
आपकी यादो से मौत हमे अलग कर सके.
मौत की भी इतनी भी औकात नही

ऐ रात तू मेरे अकेले पन पर इस कदर मत हस
वर्ना तू उस दिस बहुत पछताएगी .
जब मेरी मोहबह्त मेरी बहो में होगी .

तन्हाई मैं मुस्कुराना भी इश्क़ है
इस बात को सब से छुपाना भी इश्क़ है
यूँ तो रातों को नींद नही आती
पर रातों को सो कर भी जाग जाना इश्क़ है

ना हम कुछ कह पाते हे, ना वोह कुछ कह पाते हे.
एक दूसरे को देखकर गुजर जाया करते हे.
कब तक चलता रहेंगा ये सिलसिला,
ये सोचकर दिन गुजर जाया करते हे.

जाने कभी गुलाब लगती हे
जाने कभी शबाब लगती हे
तेरी आखें ही हमें बहारों का ख्बाब लगती हे
में पिए रहु या न पिए रहु,
लड़खड़ाकर ही चलता हु
क्योकि तेरी गली कि हवा ही मुझे शराब लगती हे

जब खुदा ने इश्क बनाया होगा,
तब उसने भी इसे आजमाया होगा..
हमारी औकात ही क्या है,
कमबख्त इश्क ने तो
खुदा को भी रुलाया होगा!

हा मेरा हर लम्हा चुरा लिया आपने,
आँखों को एक नया चाँद दिखा दिया आपने,
हमें ज़िन्दगी दी किसी और ने,
पर इतना प्यार देकर जीना सिखाया आपने!

जबरदस्ती का रिश्ता निभाया नहीं जाता,
किसको अपना बनाया नहीं जाता,
जो दिल के करीब होते है वही अपने होते है,
गेरो को सपनो में बसाया नहीं जाता…………..

हमने भी कभी प्यार किया था,
थोड़ा नही बेशुमार किया था,
बदल गयी जिंदगी तब,
जब उसने कहा अरे पागल मैने तो मज़ाक किया था…

रस्ते में कल उनसे फिर मुलाकात होगई,
ना चाहते हुए भी आँखों ही आँखों में बात हो गयी,
उसका ख़याल मेरे मन पे ऐसा शा गया के….
पता नहीं कमबख्त कब दिन हुआ और कब रात हो गयी |

वो रिश्ता क्या जिसको निभाना पड़े,
वो प्यार क्या जिसको जाटा ना पड़े,
प्यार तो एक खामोश एहसास है,
वो एहसास क्या जिसको लफ़ज़ो मैं बताना पड़े!

जाम पे जाम पीने से क्या फायदा,
रात गुज़री तो उतर जायेगी,
किसी की आंखोसे पीओ|
खुदा की कसम,
उम्र सारी नशे में गुज़र जायेगी!

कोई दीवाना कहता है कोई पागल समझता है
मगर धरती की बेचानी को बस बादल समझता है
में तुझसे दूर कैसा हूँ, तू मुझसे दूर कैसी है
ये तेरा दिल समझता है या मेरा दिल समझता है

1 2 3 4 5 6 7 8